कपालभाती प्राणायाम के फायदे नुकसान और सावधानियां। हिंदी

कपालभाती प्राणायाम को नियमित रूप से करने से बहुत से फायदे होते है और बहुत सारी बिमारियों से छुटकारा भी मिल जाता है परन्तु अगर हम किसी भी प्राणायाम को ठीक से नहीं करते है।

या गलत तरीके से करते है तो उस प्राणायाम के होने वाले फायदे की जगह नुकसान भी हो सकते है। आइये आज हम कपालभाती प्राणायाम के फायदे नुकसान और सावधानियों के बारे में विस्तार से जानते है। और किन लोगो को यह प्राणायाम नहीं करना चहिये इसके बारे में भी विस्तार से जान लेते है।

 कपालभाती-प्राणायाम-के-फायदे-नुकसान
प्राणायाम

आज के इस लेख में मैंने सिर्फ कपालभाती प्राणायाम के फायदे और नुकसान के बारे में बताया है अगर आपको इस प्राणायाम को करने के बारे में जानना है तो आप यहाँ क्लिक करें 

वैसे देखा जाये तो इस प्राणायाम के बहुत सरे फायदे है आइये इस प्राणायाम के फायदे के बारे में विस्तार से जान लेते है –

कपालभाती प्राणायाम के फायदे –

  1. इस प्राणायाम में खास कर सांस छोड़ा और भरा जाने की प्रक्रिया है जो की पुरे शरीर को स्वास्थ रहने में बहुत ज्यादा मदद मिलती है।
  2. कपालभाती प्राणायाम में गहरी सांस लेने और छोड़ने की प्रक्रिया बार बार होती है जिससे की शरीर में रक्त प्रवाह सही रहता है और इस वजह से शरीर स्वस्थ रहता है
  3. इसको करने से शरीर के विषैले पदार्थ बहार निकल जाते है।
  4. इसको करने से फाफड़े और स्वांस तंत्र ठीक रहता है।
  5. जिन्हें ब्लड प्रेसर की समस्या (मधुमेह) होता है उनके लिए कपलभाती प्राणायाम से बहुत फायदा होता है इस प्राणायाम को करने से उनके ब्लड में सुगर लेवल सही रखा जा सकता है।
  6. कपालभाती प्राणायाम से मोटापे और ज्यादा बढे हुए वजन को कम किया जा सकता है इसके लिए आपको प्राणायाम के साथ साथ अपनी डायट पर भी ध्यान देना होगा।
  7. यह पाचन सम्बन्धी समस्या को भी ठीक कर देता है
  8. जिन्हें सांस सबंधी समस्या होती है उनके लिए यह बहुत मददगार साबित होता है अस्थमा और दमा जैसी स्वांस से सम्बंधित समस्याओं के लिए यह प्राणायाम से बहुत अच्छा लाभ मिलता है।
  9. इस प्राणायाम को करने से मन शांत रहता है तथा तनाव ही नहीं रहता है ।
  10. जिन्हें बालो के झड़ने की समस्या है उनके लिए भी बहुत अच्छा विकल्प है इस प्राणायाम से मदद से बालों के झड़ने की समस्या को दूर किया जा सकता है।
  11. कपालभाती प्राणायाम करने से चेहरे पर निखर आता है त्वचा चमकदार दिखती है।
  12. पेट की आंतो से जुडी समस्या ठीक हो जाती।

कपालभाती प्राणायाम के बहुत सरे लाभ तो है परन्तु दोस्तों इसको करने से कुछ नुकसान भी हो सकते है अगर इसको गलत या ठीक से नहीं करते है तो, आइये इससे होने वाले नुकसान के बारे में विस्तार से जान लेते है-

कपालभाती प्राणायाम में सावधानियां, सलाह व नुकसान –

  1. गर्भावस्था में कपालभाती प्राणायाम नहीं करना चहिये।
  2. यह  प्राणायाम को करते समय चक्कर आ जाये या कही पर दर्द करने लगे तो इसे नहीं करना चहिये।
  3. इस प्राणायाम को और किसी भी प्राणायाम को करने के तुरंत बाद स्नान नहीं करना चहिये।
  4. पिरियड के समय इस प्राणायाम को नहीं करना चहिये
  5. अगर आपको बुखार, हर्निया, अल्सर, हाई ब्लड प्रेशर, लीवर और ह्रदय रोग हो तो कपालभाती के नुकसान भी हो सकते है ।
  6. जिन्हें ह्रदय सम्बन्धी रोग है उन्हें कपालभाती प्राणायाम नहीं करना चहिये।
  7. ऐसे लोग जिन्हें पीठ में दर्द होता है उन्हें भी यह प्राणायाम नहीं करना चहिये।
  8. जिन्हें अल्सर की समस्या है उन्हें भी इस प्राणायाम को नहीं करना चहिये
  9. आगर आपको कमजोरी महसूस हो रही हो तो भी इसे ना करें।

 

नोट:- कोई भी प्राणायाम करने से पहले आप किसी एक्सपर्ट से जरुर सलाह ले तथा सही तरीके से व सही विधि से किसी भी प्राणायाम को करें तभी आपको लाभ होगा अन्यथा अगर आप गलत तरीके से करते है तो आपको हानि भी हो सकती है।

आज हमने कपालभाती प्राणायाम से होने वाले फायदे और नुकसान के बारे में जाना है। अगर आपको मेरा यह लेख अच्छा लगे तो अपने दोस्तों और जिन्हें इसकी जरुरत हो उनके साथ शेयर करें। और अगर आपका इससे सम्बंधित कोई भी सवाल हो तो कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *