ED full form in Hindi : ED क्या है? इसकी पूरी जानकारी हिंदी में और इसका क्या मतलब है?

ED का पूरा नाम  है जिसको हिंदी में प्रवर्तन निदेशालय के नाम से भी जाना जाता है। दोस्तों अपने बहुत बार इसका नाम तो सुना ही होगा।

ED भारत सरकार के वित्त मंत्रालय राजस्व विभाग के अंतर्गत एक विशेष वित्तीय जाँच एजेंसी है। यह एजेंसी भारत में विदेशी धन, विदेशी मुद्रा का अवैध व्यापार, विदेशी में सम्पति आदि की जाँच करती है। इन सबसे बारे में हम आगे विस्तार से जानेगें।

और साथ ही यह भी जानेंगे की ED क्या है कैसे काम करता है। और साथ ही इसके प्रमुख कार्यो के बारे में भी जानेंगे।

ed-full-form

ED क्या है? इसका क्या मतलब है

ED भारत सरकार के वित्त मंत्रालय राजस्व विभाग के अंतर्गत एक विशेष वित्तीय जाँच एजेंसी है। यह एक ख़ुफ़िया एजेंसी है, जो की भारत में विदेशी धन, विदेशी मुद्रा का अवैध व्यापार, विदेशी में सम्पति आदि की जाँच करती है।

ED का Full form क्या है? 

ED का फुल फॉर्म Enforcement Directorate है। जिसको हिंदी में “प्रवर्तन निदेशालय” के नाम से जानते है।

ED की स्थापना कब हुई?

ED यानि के Enforcement Directorate की स्थापना 1 मई 1956 को किया हुई थी। शुरुआत में इसका नाम प्रवर्तन इकाई था फिर सन 1957 में इसका नाम बदलकर ED = Enforcement Directorate कर दिया गया, जिसको हिंदी  में प्रवर्तन निदेशालय के नाम से जाना जाता है। शुरुवात में सिर्फ बोम्बे और कलकत्ता में इसकी शाखाएं थी।

ED का मुख्यालय कहाँ है?

ED प्रवर्तन निदेशालय का कार्यालय मुख्यालय: नई दिल्ली में है और इसके रीजनल कार्यालय: मुम्‍बई, चैन्‍नई, चंडीगढ, कोलकाता, तथा दिल्‍ली में है। और इसके 16 क्षेत्रीय कार्यालय है जो की

अहमदाबाद, बंगलौर, चंडीगढ़, चेन्नई, कोच्ची, दिल्ली, पणजी, गुवाहाटी,  हैदराबाद, जयपुर, जालंधर, कोलकाता, लखनऊ, मुंबई, पटना,  श्रीनगर आदि जगह पर है।

इसके 11 उप क्षेत्रीय कार्यालय: भुवनेश्वर, कोझीकोड, इंदौर, मदुरै, नागपुर, इलाहाबाद(वाराणसी), रायपुर, देहरादून, रांची, सूरत, शिमला आदि जगहों में है। अब आइये इसके कार्यों के बारे में थोडा जान लेते है।

ED के मुख्य कार्य

(काला धन) अवैध संपत्ति को जप्त करना

अगर फेमा के तहत दोषी पाए जाते है तो ऐसे लोगो की संपत्ति को जप्त करना

आयत निर्यात मूल्य

निर्यात के मूल्य को अधिक आंकना और आयात के मूल्य को कम आंकना। इसके अंतर्गत अगर किसी भी व्यक्ति के द्वारा इस तरह की गतिविधि की जाती है तो ED द्वारा उसकी जाँच की जाती है।

अवैध विदेशी मुद्रा

अगर किसी के पास अवैध विदेशी मुद्रा है तो उसकी जांच करना। या फिर बिना अनुमति के विदेशी मुद्रा व्यापार किस जांच करना।

विदेशों में संपत्ति खरीद

अगर किसी की विदेशों में संपत्ति है तो उसकी जांच करना।

निष्कर्ष

तो आज के लेख में हमने जाना कि ED का फुल फॉर्म Enforcement Directorate है। जिसको हिंदी में “प्रवर्तन निदेशालय” के नाम से जानते है। आशा करते है आपको इस लेख को पढ़ कर जरुर कुछ अच्छी जानकारी मिली होगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *