MMS Full Form जानिए MMS क्या है? MMS Meaning In Hindi

आज के लेख में  हम MMS Full Form क्या है? MMS Meaning In Hindi तथा  इसका हिंदी में फुल फॉर्म क्या है। और MMS और SMS में क्या अंतर है, और साथ ही इसके इतिहास और इसके बारे में थोडा विस्तार से जानेंगे।  और साथ ही हम MMS के उदाहरण भी देखेंगे।

 

MMS मल्टीमीडिया संदेश क्या है?

यह सेवा मल्टीमीडिया संदेश सेवा या एमएमएस (MMS) के नाम से जानी जाती है। यह सुविधा सभी कंपनियों के मोबाइल फ़ोन में होती है इसकी मदद से हम image, audio और video की छोटा भाग भेज सकते है। यहाँ तक ​​कि एक दूसरे के बीच वीडियो फाइल ठीक उसी तरह से काम करता है जैसे SMS काम करते है। परन्तु आज के दौर में सोशल मिडिया प्लेटफार्म के आने के बाद से इसका ज्यादा उपयोग नहीं होता है।

mms-full-form-in-hindi

MMS 160 words तक सीमित नहीं है। एसएमएस यह उपयोगकर्ताओं को लगभग असीमित उपयोग करने की आजादी देता है ताकि वे संदेश टाइप कर सकें और भेज सकें एमएमएस उपयोगकर्ताओं के साथ मीडिया के विभिन्न रूप मीडिया को संदेशों के साथ सीधे एम्बेड करेंएसएमएस उपयोगकर्ता केवल लिंक भेज या प्राप्त कर सकते हैं सामग्री के लिए इसका मतलब यह भी है कि एमएमएस अधिक डेटा प्रसारित करता है। इसके लिए इन्टरनेट की आवश्यकता होती है।

SMS छोटे Text massage सेवा के लिए इस्तेमाल होते है जबकि MMS में image, audio और video फाइल भेज सकते हैं विभिन्न स्वरूपों इनमें स्वरूपित पाठ फ़ाइलें शामिल हैं। जैसे की इमोजी स्टाइलिश टेक्स्ट आदि।

MMS full form क्या है?

MMS का मतलब (Multimedia Messaging Service) मल्टीमीडिया मैसेजिंग सर्विस है। यह SMS उपयोगकर्ताओं को मल्टीमीडिया सामग्री भेजने की अनुमति देता है। MMS को SMS की तकनीक का ही उपयोग करके बनाया गया था। यह चित्रों (जैसे की jped, gif, jpg आदि ) को भेजने के लिए सबसे लोकप्रिय है, लेकिन इसका उपयोग Video, image और audio फ़ाइलों को भेजने के लिए भी किया जा सकता है। अभी वर्तमान में सोशल मिडिया प्लेटफॉर्म्स के आने से इसका इस्तेमाल कम हो गया है। इस सेवा के इस्तेमाल के लिए इन्टरनेट की आवश्यकता पड़ती है।

MMS का इतिहास

MMS मल्टीमीडिया मैसेजिंग सेवा का निर्माण SMS मैसेजिंग की तकनीक का उपयोग करके किया गया था, जिसे सबसे पहले 1984 में एक तकनीक के रूप में विकसित किया गया था,  सन 2010 और 2013 के बीच, अमेरिका में MMS के इस्तेमाल में  बहुत ज्यादा बढ़ोत्तरी हुई। इस समय में नेटवर्क का विकास उतना अच्छा नहीं था। और ना ही स्मार्टफोन थे। MMS 2G नेटवर्क में भी MMS Message का आदान प्रदान हो सकता है। यह स्मार्टफोन को व्यापक रूप से अपनाने के कारण है।

MMS का उपयोग कहाँ होता है?

  • MMS Service का इस्तेमल बहुत से डिवाइस में होता है, जो की इसको सपोर्ट करते है उनकी सूची निचे दी गई है।
  • Mobile Phones
  • Smart Phones
  • Android Mobile
  • Windows Mobile
  • Iphone
  • Handheld Devies
  • Personal Computers
  • Tablet

MMS के फायदे और नुकसान

यहाँ पर MMS के फायदे है तो इसके कुछ नुकसान भी है आइये इसके बारे में थोडा सा विस्तार से जान लेते है।

MMS के फायदे

  • MMS संदेशो को भेजना और प्राप्त करना बहुत ही आसान है।
  • MMS संदेशो को हम आसानी से अपने डिवाइस में ही स्टोर करके रख सकते है। और उसी को किसी को भी forward कर सकते है।
  • यह Short Videos, Images, Audio आदि फाइल्स को बेहतर ब्रांडिंग की अनुमति देता है।
  • सभी उपयोगकर्ता इस सेवा का इस्तेमाल कर रहे है, क्योंकि यह आसान है।

MMS के नुकसान

  • पहले के समय में सभी मोबाइल फोन्स में MMS सेवा सपोर्ट नहीं करती है। खासकर उन डिवाइस में जिनमे इन्टरनेट सपोर्ट नहीं करता था।
  • आज कल के बहुत सभी स्मार्टफोन में यह feature आसानी से मिल जाता है। परन्तु आज भी कुछ ऐसे डिवाइस है जो इस सेवा को सुपोर्ट नहीं करते है (जैसे की कीपैड मोबाइल में)।
  • कुछ मीडिया फाइल्स जैसे की videos, images आदि में विभिन्न प्रकार के प्रदर्शन आकारों के कारण कुछ resolution की समस्या होती है।
  • MMS Service का इस्तेमाल करने के लिए हम्हे अपने सेवा प्रदाता को अतिरिक्त शुल्क देना पड़ता है।
  • इसके सर्वर पर लोड पड़ने के कारण यह धीमे हो जाते है।

MMS सन्देश भेजने की लागत

SMS की तुलना में MMS थोडा अधिक खर्चीला होता है। MMS सन्देश में भेजे गए सन्देश के अनुसार शुल्क लिया जाता है। यह तो आपके नेटवर्क सेवा ओपरेटर कंपनी के ऊपर निर्भर करता है। सभी नेटवर्क ऑपरेटर्स के अनुसार इसके चार्ज अलग अलग हो सकते है।

MMS का उधाहरण

उदाहरण के लिए मान लीजिये आप मैसेज में केवल टेक्स्ट टाइप कर रहे हो तो वह SMS सन्देश है और अगर आप मैसेज में ही टेक्स्ट भी टाइप कर रहे हो और उसमे ही विडियो और इमेज भी add कर रहे हो तो वह मैसेज MMS है।

MMS और SMS में अंतर

MMS का पूरा नाम मल्टीमीडिया मैसेज सर्विस है। इसकी मदद से हम दुसरो को image, audio और videos की शोर्ट क्लिप, image slides भेज  कर सकते है।

वैसे इसका उपयोग अधिकतर शोर्ट videos और इमेजेज भेजने के लिए होता था। परन्तु whatsapp और अन्य सोशल प्लेटफार्म के आने से इसका इस्तेमाल कम हो गया है

 

जबकि SMS का पूरा नाम शोर्ट मैसेज सर्विस है, हम इसको बोलचाल की भाषा में  message, टेक्स्ट मैसेज , और हिंदी में सन्देश भी कहते है। इसका इस्तेमाल आज के समय में भी बहुत

बड़े पैमाने पर होता है। इसमें आप 160 Character तक का मैसेज एक मैसेज में भेज सकते हो। और अगर आप एक मैसेज में 160 कैरक्टर से अधिक का मैसेज भेजते हो तो

वह आपका 2 मैसेज या फिर आपके कैरेक्टर के अनुसार 2 या 3 मैसेज बन जाता है। इसमें अगर आप 160 कैरक्टर तक का एक ही मैसेज भेजते हो तो वह अच्छा रहेगा।

ये दोनों ही सर्विस मोबाइल ओपरेटर के द्वारा प्रदान की जाती है।

यह भी जानें :-

ED full form : ED क्या है? इसकी जानकारी

LMAO की पूरी जानकारी हिंदी में और इसका क्या मतलब है?

निष्कर्ष :-

आज के इस लेख में जाना की MMS Full Form क्या है? MMS Meaning In Hindi तथा MMS और SMS में क्या अंतर है,  MMS Ka Matlab और इसकी लागत कितनी है। और भी बहुत कुछ जाना है। अगर आपके इससे जुड़े कोई भी प्रश्न हो तो निचे कमेंट करें। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो कमेंट के माध्यम से हम्हे जरुर बताएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *