NCR की पूरी जानकारी में तथा यह क्या होता है जानिए NCR Meaning in hindi

नमस्कार दोस्तों आज हम जानेंगे Delhi NCR क्या है एनसीआर की पूरी जानकारी NCR Meaning in Hindi, NCR Full Form तथा एनसीआर के बारे में सभी प्रकार की जानकारी को हम अपनी आसान भाषा हिंदी में प्राप्त करेंगे और साथ ही इससे जुड़े सभी सवालों को जानने का प्रयास भी करेंगे यह भी जानेंगे कि यह क्या क्या काम करता है इसके क्या फायदे हैं। 

अगर आप भी एनसीआर के बारे में जानना चाहते हो तो यह लेख आपके लिए हैं  तो आइए दोस्तो बिना देरी के शुरू  करते हैं। 

National Capital Region

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) भारत में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली पर केंद्रित एक योजना क्षेत्र है। दिल्ली राजधानी शहर है और भारत का दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला शहर है। एनसीआर को आगे तीन क्षेत्रों में विभाजित किया गया है। 

NCR Full Form in Hindi

National Capital Region (NCR)

दोस्तों NCR का Full Form National Capital Region होता है तथा इसका हिंदी में मतलब राष्ट्रिय राजधानी क्षेत्र होता है। 

Delhi NCR क्या है

National Capital Region (NCR)

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) भारत में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली पर केंद्रित एक योजना क्षेत्र है। उस क्षेत्र  में बहुत अधिक जनसंख्या होने के कारण वहां पर सब कुछ अच्छी तरह से मैनेजमेंट तथा भविष्य से संबंधित योजनाओं को बनाने के लिए NCR Means National Capital Region का गठन किया गया। 

NCR की वजह से ही इस  क्षेत्र  मैं बहुत तेजी से विकास होता है। Delhi NCR में हरियाणा के 7 जिलों, उत्तर प्रदेश के 13 जिलों तथा राजस्थान के 2 जिलों को शामिल किया गया है। 

दिल्ली देश की राजधानी होने के साथ ही पहले से ही व्यापार का का केंद्र भी रहा है। इस वजह से वहां पर देश के दुसरे राज्यों  से भी व्यवसाय के लिए लोग आ गये है जिसके कारण वहां पर बहुत ज्यादा जनसंख्या वृद्धि हो गई है  तथा दिल्ली की जनसंख्या में वृद्धि ने भीड़भाड़ और नागरिक सुविधाओं की कमी को बढ़ाने में बहुत ही ज्यादा योगदान दिया है। जैसे-जैसे दिल्ली का विकास होगा वहां पर भूमि, आवास, परिवहन और पानी की आपूर्ति और सीवरेज जैसे आवश्यक बुनियादी ढांचे के प्रबंधन की समस्याएं और अधिक बढ़ती जाएंगी। और इन सभी समस्याओं से निपटने के लिए राष्ट्रिय राजधानी क्षेत्र का गठन किया गया है। 

NCR का इतिहास 

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR)  का गठन 1985 में  हुआ था। दिल्ली के राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के लिए एक योजना क्षेत्र है। इस  क्षेत्र में उत्तर प्रदेश, हरियाणा तथा राजस्थान के कुछ शहर शामिल है। जिन्हें राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के लिए चुना गया है शुरुआत में इनकी संख्या कम थी फिर धीरे-धीरे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में इन शहरों का विस्तार होता गया। तथा वर्तमान में इन  शहरों संख्या 22 हो गई है। 

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र तथा संबंधित योजना बोर्ड इस क्षेत्र NCR के विकास की योजना बनाने के लिए, भूमि-उपयोग के नियंत्रण तथा क्षेत्र में बुनियादी ढांचे के विकास के लिए नीतियों को विकसित करने के लिए बनाया गया था।

 राष्ट्रीय राजधानी  क्षेत्र (NCR) के प्रमुख शहरों में दिल्ली, फरीदाबाद, गाजियाबाद, गुरुग्राम और नोएडा आदि शामिल हैं।

NCR का उद्देश्य 

दिल्ली की जनसंख्या में वृद्धि ने भीड़भाड़ और नागरिक सुविधाओं की कमी को बढ़ाने में बहुत ही ज्यादा योगदान दिया है। जैसे-जैसे दिल्ली का विकास होगा वहां पर भूमि, आवास, परिवहन और पानी की आपूर्ति और सीवरेज जैसे आवश्यक बुनियादी ढांचे के प्रबंधन की समस्याएं और अधिक बढ़ती जाएंगी। तो इन सभी समस्यायों के समाधान के लिए तथा वहां पर सब कुछ अच्छी तरह से मैनेजमेंट के लिए तथा भविष्य से संबंधित योजनाओ को बनाने के लिए Delhi National Capital Region (राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र ) का गठन किया गया। 

NCR के कार्य 

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र अधिनियम की धारा 7 के तहत NCR बोर्ड के निम्न कार्य हैं: –

  • क्षेत्रीय योजना तथा कार्यात्मक योजना तैयार करना। 
  • प्रत्येक भाग लेने वाले राज्यों और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, दिल्ली द्वारा उप-क्षेत्र योजनाओं और परियोजना योजनाओं की तैयारी की व्यवस्था करना।
  • भाग लेने वाले राज्यों और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, दिल्ली के माध्यम से क्षेत्रीय योजना, कार्यात्मक योजनाओं, उप-क्षेत्रीय योजनाओं और परियोजना योजनाओं के प्रवर्तन और कार्यान्वयन का समन्वय करना
  • परियोजना निर्माण, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र या उप-क्षेत्रों में प्राथमिकताओं के निर्धारण और क्षेत्रीय में इंगित चरणों के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के विकास के चरणबद्ध तरीके से भाग लेने वाले राज्यों और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली द्वारा उचित और व्यवस्थित प्रोग्रामिंग सुनिश्चित करना। 
  • केंद्रीय और राज्य योजना, निधियों और राजस्व के अन्य स्रोतों के माध्यम से राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में चयनित विकास परियोजनाओं के वित्तपोषण की व्यवस्था करना और उसकी निगरानी करना।

Delhi NCR Map

Delhi NCR Map source wikipedia

एनसीआर में कौन कौन से जिले आते हैं?

दिल्ली एनसीआर में तीन राज्य उत्तर प्रदेश, हरियाणा तथा राजस्थान के विभिन्न शहरों को शामिल है जैसे की  हरियाणा राज्य के तेरह जिलों, उत्तर प्रदेश राज्य के सात जिलों तथा राजस्थान राज्य के दो जिलों को शामिल किया गया है। आइये इन तीनो प्रदेशों के कौन – कौन से जिलों को NCR ( राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र ) में शामिल किया गया है आइये उनके बारे में विस्तार से जानते है। 

Haryana NCR District List राज्य के NCR में आने वाले जिलों की सूची 

  1. गुड़गांव 
  2. पानीपत 
  3. सोनीपत 
  4. रेवाड़ी 
  5. रोहतक
  6. फरीदाबाद
  7. भिवानी
  8. जींद
  9. मेवात
  10. महेंद्रगढ़ 
  11. पलवल 
  12. कामुक
  13. झज्जर ( बहादुरगढ़)

Rajasthan NCR District List राज्य के NCR में आने वाले जिलों की सूची 

  1. भरतपुर 
  2. अलवर 

Uttar Pradesh NCR District List राज्य के NCR में आने वाले जिलों की सूची 

  1. बागपत 
  2. गौतम बुद्ध नगर (नोएडा और ग्रेटर नोएडा)
  3. गाजियाबाद 
  4. मुजफ्फरनगर
  5. मेरठ 
  6. बुलंदशहर 
  7. हापुड़

FAQ

Qes. दिल्ली भारत की राजधानी कब बनी थी?
Ans. = 13 फरवरी 1931 को इससे पहले भारत की राजधानी कोलकाता (कलकत्ता) थी।

Qes. नेशनल केपिटल रिजन (NCR) प्लानिंग बोर्ड की शुरुआत कब हुई?
Ans. = 1985 में 

Qes. Delhi NCR में कुल कितने जिले है?
Ans. = 3 राज्य में कुल 22 जिले है

 निष्कर्ष 

दोस्तों इस लेख में हमने NCR का मतलब, यह क्या है? तथा NCR meaning इन हिंदी के बारे में विस्तार से जाना है। तथा एनसीआर में आने वाले शहरों के बारे में भी थोडा विस्तार से जाना है। साथ ही इससे जुड़े कुछ प्रश्नों के बारे में भी जाना है।

आशा करने है आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी अगर आपके इससे जुड़े कोई भी प्रश्न हो तो आप निचे कमेंट कर सकते हो। हमारे द्वारा आपकी इस सम्बन्ध में पूरी सहायता की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *