सॉफ्टवेयर के प्रकार तथा Software क्या है? Software Kitne Prakar Ke Hote Hain?

software के प्रकार तथा उदाहरण, सॉफ्टवेयर क्या है, सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते है, सॉफ्टवेयर के फायदे Software ke prakar PDF Book Download, software से जुडी पूरी जानकारी

सॉफ्टवेयर के प्रकार के बारे में जानना चाह रहे हो दोस्तों आज के इस लेख में सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते हैं तथा सॉफ्टवेयर क्या है अलग-अलग प्रकार की सॉफ्टवेयर होते हैं जो कि किस कैटेगरी से है इसके बारे में हम इस लेख के माध्यम से पूरी जानकारी अपनी आसान भाषा में जानेंगे।

आज की दुनिया में हम सभी को सॉफ्टवेयर के बारे में बताइए अपने कंप्यूटर का कोई भी कोई भी ऐप या प्रोग्राम जो हमारा काम आसान कर देता है वह सॉफ्टवेयर ही है। 

सॉफ्टवेयर के प्रकार

वैसे देखा जाए तो दोस्तों आज की इस दुनिया में अपने काम को आसान बनाने के लिए मानव लगातार नई-नई खोज करते जा रहा है जिससे कि किसी भी कार्य को जल्दी से जल्दी  पूरा किया जा सके। 

सॉफ्टवेयर क्या है तथा इसके प्रकार? – Software Kitne Prakar Ke Hote Hain? 

Table of Contents

 दोस्तों सॉफ्टवेयर के बारे में हम सभी तो जानते ही हैं  हम  अपने वर्तमान जीवन में  मोबाइल,  कंप्यूटर, लैपटॉप आदि में जितने भी एप्स या सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कर रहे हैं वह सभी सॉफ्टवेयर  ही है।  

सॉफ्टवेयर  के बारे में तो हम बहुत अच्छी तरह से जानते हैं परंतु आज हम यहां पर सॉफ्टवेयर के कितने प्रकार होते हैं इसके बारे में नीचे विस्तार से चर्चा करेंगे दोस्तों आइए  सबसे पहले आसान भाषा में  सॉफ्टवेयर क्या है इसको समझते हैं

सॉफ्टवेयर क्या है?

सॉफ्टवेयर – एक सॉफ्टवेयर के अंदर बहुत सारे निर्देशों का समूह होता है जिन्हें हम प्रोग्राम कहते हैं, जो कि कंप्यूटर तथा उसके हार्डवेयर को संचालित करने के लिए निर्देशों का समूह होता है। इन समूह में किसी भी प्रोग्राम के संचालन की पूरी प्रक्रिया होती है जिसे हम आसान भाषा में प्रोग्राम या फिर सॉफ्टवेयर कहते हैं 

सॉफ्टवेयर परिभाषा :- निर्देशों का वह समूह जो किसी कार्य को करने के लिए कंप्यूटर हार्डवेयर को निर्देशित करता है प्रोग्राम में सॉफ्टवेयर के लाता है। 

सॉफ्टवेयर के प्रकार

वैसे दोस्तों हम प्रतिदिन अपने कंप्यूटर लैपटॉप या मोबाइल के माध्यम से बहुत सारे अलग-अलग प्रकार के  सॉफ्टवेयर या ऐप इस्तेमाल करते हैं परंतु यह पता लगा पाना थोड़ा सा मुश्किल हो जाता है कि वह किस प्रकार का सॉफ्टवेयर है। 

अगर हम उपयोग के अनुसार देखे तो मुख्यतः सॉफ्टवेयर तीन प्रकार के होते हैं 1 एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर, 2  सिस्टम सॉफ्टवेयर, 3 यूटिलिटी सॉफ्टवेयर जिनके बारे में हम  इसी लेख में आगे चलकर विस्तार से जानेंगे। 

इन्हें भी पढ़ें :-

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है? Application Software

Application Software :- एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर में वह सारे सॉफ्टवेयर या ऐप्स आ जाते हैं हर एक सॉफ्टवेयर किसी न किसी खास कार्य के लिए बने होते है। जिन्हें हम अपनी अपनी जरूरत के हिसाब से रोजाना इस्तेमाल करते हैं। इन्ही सॉफ्टवेयर की मदद से आज हमारी रोजमर्रा की जिंदगी के बहुत से काम आसानी से तथा काम से काम समय में हो जाते है। 

जैसे कि अगर हमें इंटरनेट का इस्तेमाल करना है तो गूगल क्रोम वेब ब्राउजर, अगर हमें अपने लैपटॉप में मोबाइल में कोई वीडियो को प्ले करना है तो उसके लिए हम किसी वीडियो प्लेयर का इस्तेमाल करेंगे अगर हमें फोटो एडिट करना है तो हम फोटोशॉप का इस्तेमाल कर सकते हैं यदि व्हाट्सएप चलाना है तो व्हाट्सएप का या फिर वर्ल्ड में कोई डॉक्यूमेंट  बराना हो या फिर हमें ऑनलाइन मनोरंजन के लिए कोई भी कंटेंट देखना हो तो नेट फिक्स हॉटस्टार आदि एप्लीकेशन मैं देख सकते हैं 

Application Software के फायदें

वैसे दोस्तों एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के बहुत सारे फायदे है जिनमे से कुछ खास फायदों  के बारे में हम यहाँ जान लेते है। 

  • Problem Solving सॉफ्टवेयर की मदद से किसी भी समस्या  का जल्दी से जल्दी हल किया जा सकता है। 
  • Easy to use -इन सॉफ्टवेयर का उपयोग करना बहुत ही आसान होता है। 
  • Work in less time –  इनकी मदद से कोई भी कम से कम समय में ज्यादा काम कर सकते हैं। 
  • Easy Work -यह कोई भी कार्य को बहुत ही आसान बना देते हैं। 

Application Software  के प्रकार तथा 12  उदाहरण

 दोस्तों आइए एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर उदाहरण के साथ एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के उदाहरण नीचे दिए गए हैं।

1 Microsoft Word –  माइक्रोसॉफ्ट वर्ड भी एक प्रकार का है इसकी मदद से हम अपने कंप्यूटर में विभिन्न प्रकार के लेटर पत्र लिखते हैं तथा उसे विभिन्न प्रकार से जमा सकते हैं।  या फिर किसी पत्र को टाइप करके उसका पेज में प्रिंट आउट निकाल सकते हैं। 

2 Google Chrome –  गूगल एक बहुत ही उपयोगी एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर है यह बहुत ही लाइट वेट तथा बहुत ही  तेज ब्राउजर है जोकि है यह गूगल की तरफ से है। इसका इस्तेमाल इंटरनेट को एक्सेस करने के लिए किया जाता है। 

3 Firefox –  यह भी एक तरह का वेदर है जिसका उपयोग इंटरनेट को एक्सेस करने के लिए किया जाता है यह भी एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर ही है। 

4 Windows Media Player – इस एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कंप्यूटर या फिर मोबाइल में वीडियो को चलाने के लिए किया जाता है। 

5 VLC Media Player –  यह भी एक प्रकार का वीडियो प्लेयर  है कमाल भी कंप्यूटर था मोबाइल में पड़ी वीडियोस को चलाने के लिए किया जाता है यहां एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर कंप्यूटर तथा एंडॉयड दोनों प्लेटफार्म के लिए है। 

6 Microsoft Excel – माइक्रोसॉफ्ट एक्सेस  एक बहुत ही अच्छा एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर है इसका इस्तेमाल आज के समय में बहुत ही ज्यादा हो रहा है इसकी मदद से ऑफिस वर्क ही बहुत ही आसानी से किए जाते हैं  या डेटाबेस मैनेजमेंट के लिए बहुत ही अच्छा सॉफ्टवेयर है इसमें ग्राफिकल यूजर इंटरफेस दी है जो इसे बहुत ही आसान बना देता है तथा डेटाबेस से संबंधित विभिन्न प्रकार के   टूल भी मौजूद है। 

7 Photoshop –  दोस्तों फोटोशॉप के बारे में तो आप सभी जानते ही होंगे  यह फोटोस या फिर किसी भी गा फिक्स को एडिटिंग करने के लिए बहुत ही अच्छा सॉफ्टवेयर है इसका इस्तेमाल बहुत ही बड़े पैमाने पर किया जाता है इसे Adobe Inc. के द्वारा विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम तथा मैक ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए 1988  मैं बनाया गया था। 

8 Facebook – फेसबुक के बारे में तो हम सभी बहुत अच्छी तरह से जानते हैं तथा हम सभी का बहुत ज्यादा इस्तेमाल भी करते हैं यह एक बहुत ही अच्छा सोशल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म हैं जहां पर हम अपने आसपास के लोगों से ऑनलाइन  जुड़ सकते हैं तथा बात कर,  सभी के साथ अपने विचारों को शेयर कर सकते हैं फेसबुक को मार्क ज़ुकेरबर्ग के द्वारा बनाया गया था। 

9 WhatsApp –  दोस्तों व्हाट्सएप के बारे में तो हम सभी जानते हैं तथा इसका हम अपनी डेली लाइफ में बहुत ज्यादा इस्तेमाल करते हैं आज हमारे जीवन का एक अभिन्न अंग बन चुका है यह भी एक सोशल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म है  जिसका इस्तेमाल आज दुनिया में लगभग हर जगह बहुत ही ज्यादा होता है।  यह भी एक तरह का एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर ही है। 

10 Netflix – नेटफ्लिक्स के बारे में तो हम सभी जानते है यह एक ऑनलाइन entertainment प्लेटफार्म है, यहां पर हम बहुत सारी फिल्म्स तथा बहुत से वेब सीरीज को बहुत ही आसानी से देख सकते है दोस्तों ऑनलाइन इंटरटेनमेंट के लिए आज बहुत सारे OTT प्लेटफार्म उपलब्ध है  जैसे कि हॉटस्टार अमेजॉन प्राइम एम एक्स प्लेयर इत्यादि,  यह सभी एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के बहुत ही बढ़िया उदाहरण है जिनका सभी डेली लाइफ में बहुत ही ज्यादा उपयोग करते हैं। 

11 Wordpad – माइक्रोसॉफ्ट वर्ड  का इस्तेमाल भी किसी पत्र को टाइप करना है या बनाने में किया जाता है यह एक वर्ड प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर है जो की एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के अंतर्गत आता है। 

सिस्टम सॉफ्टवेर  क्या है?– System Software

सिस्टम सॉफ्टवेयर वह सॉफ्टवेयर होते हैं जो अन्य सभी सॉफ्टवेयर को  प्लेटफार्म (एक मंच ) प्रदान करने के लिए बनाये जाते जैसे की कोई भी ऑपरेटिंग सिस्टम। 

वह  सॉफ्टवेयर जो सभी सॉफ्टवेयर के लिए एक प्रकार से प्लेटफार्म का कार्य करता है जिसकी मदद से सभी सॉफ्टवेयर और प्रोग्राम  चलते हैं। 

System Software के फायदें 

 दोस्तों यहां पर अगर देखा जाए तो सिस्टम सॉफ्टवेयर के बहुत सारे फायदे होते हैं जोकि नीचे दिए गए हैं-

  • यह सभी सॉफ्टवेयर को एक मंच प्रदान करता है इसकी मदद से ही सभी सॉफ्टवेयर किसी भी कंप्यूटर या मोबाइल में चलते हैं। 
  • सिस्टम सॉफ्टवेयर अपने आप में एक तरह से सक्षम सॉफ्टवेयर होते हैं जो  की किसी भी  छोटे-मोटे कार्य को भली-भांति कर सकते हैं। 
  • सिस्टम सॉफ्टवेयर की मदद से कोई भी कार्य बहुत तेज गति से किया जा सकता है। 
  • यह सॉफ्टवेयर low level language में लिखे हुए होते है। जिसे किसी भी हार्डवेयर के लिए समझना बहुत ही आसान हो जाता है 

System Software के प्रकार तथा उदाहरण

1 BiOS (Basic Input Output System) बॉयोस ऑपरेटिंग सिस्टम का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा होता है यह भी एक सिस्टम सॉफ्टवेयर के अंतर्गत ही आता है यहां कंप्यूटर हार्डवेयर तथा सॉफ्टवेयर  दोनों को आपस में जोड़ता है। 

2 Boot Loader  यह भी एक तरह से ऑपरेटिंग सिस्टम  तथा हार्डवेयर का एक अभिन्न अंग है यह सबसे पहले जैसे ही हम अपने डिवाइस (कंप्यूटर या मोबाइल ) को स्टार्ट करते हैं तो यह हार्डवेयर पर ऑपरेटिंग सिस्टम को लोड कर देता है इसके बिना कोई भी सिस्टम नहीं चल सकता है यह किसी भी डिवाइस का एक बहुत ही महत्वपूर्ण भाग होता है। 

3  ऑपरेटिंग सिस्टम यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण  सिस्टम सॉफ्टवेयर होता है इसकी मदद  से ही हम अपने डिवाइस में कोई भी एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर  को चला सकते हैं इसके बिना हम अपने डिवाइस कंप्यूटर लैपटॉप मोबाइल आदि मैं कोई भी एप्लीकेशन को नहीं चला सकते हैं।  आज वर्तमान में विभिन्न प्रकार के बहुत सारे ऑपरेटिंग सिस्टम मौजूद है जिनमें से कुछ खास के नाम नीचे दिए गए हैं

  1. Windows 
  2. Linux Os
  3. Ubuntu
  4. Android Os
  5. Device Drivers
  6. iOS Os
  7. Chrome Os
  8. Blackberry Os

Programming Language Translators यह भी सिस्टम सॉफ्टवेयर का एक अभिन्न अंग है हम किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम में कोई भी प्रोग्राम को यह सॉफ्टवेयर को अगर रन करते हैं तो विभिन्न प्रकार की भाषाओं में लिखे हुए होते हैं तो ऐसे में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज ट्रांसलेटर उन भाषाओं को मशीनी भाषा में ट्रांसलेट कर देते हैं जिससे कि कंप्यूटर आसानी से पढ़ सकता है तथा आपके द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन कर  करता है। 

यूटिलिटी सॉफ्टवेयर  क्या है? Utility software

यूटिलिटी सॉफ्टवेयर वह सॉफ्टवेयर होता है जो कंप्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम को अनुकूलित बनाए रखने तथा उपयोगकर्ताओं को कॉन्फ़िगर करने में मदद करता है इस तरह के सॉफ्टवेयर छोटे से सॉफ्टवेयर होते हैं जो किसी स्पेसिफिक कार्य को पूरा करते हैं जैसे कि फाइल मैनेजर लीना डिस्क मैनेजमेंट इत्यादि आईएसए उदाहरण के साथ समझते हैं उससे पहले इससे होने वाले फायदों के बारे में जान लेते हैं 

Utility Software के फायदें

  • यह डिवाइस की ऑडियो या फिर डिस्प्ले इत्यादि से संबंधित छोटी-छोटी समस्याओं को ठीक कर  देते हैं। 
  •  इनकी मदद से हम अपने डिवाइस की छोटी मोटी समस्या को आसानी से ठीक कर सकते हैं जैसे ऑडियो से संबंधित या फिर ग्राफिक से संबंधित आदि। 
  • यह सॉफ्टवेयर हमारे डिवाइस के लिए बहुत ही उपयोगी है जिस तरह से हमें अपने कंप्यूटर को चलाने के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम की आवश्यकता होती है उसी तरह से उस में छोटी-मोटी समस्याओं को ठीक करने के लिए यूटिलिटी सॉफ्टवेयर की आवश्यकता होती है। 

Utility Software के प्रकार तथा उदाहरण

1 File Manager Tools  यूटिलिटी सॉफ्टवेयर की मदद से  हम अपने कंप्यूटर में मौजूद  फाइलों  को अच्छे  से मैनेज कर सकते हैं इस सॉफ्टवेयर की मदद से ही हमारा कंप्यूटर या मोबाइल पीडीएफ फाइल, Mp3 फाइल, वीडियो फाइलें तथा अन्य डॉक्यूमेंट फाइलों  की अलग अलग पहचान कर पाता है। 

2 Compression Tool  इस सॉफ्टवेयर की मदद से किसी भी फाइल के साइज को कंप्रेस करके कम किया जा सकता है किसी भी फाइल  का कंप्रेस करने के बाद  सीधे उपयोग नहीं किया जा सकता है उपयोग करने के लिए उस फाइल को डीकंप्रेस करना पड़ता है आज बहुत सही कंप्रेशन  टूल सॉफ्टवेयर उपलब्ध है  जैसे कि WinZip 7-Zip आदि। 

3 Disk Cleanup यह भी एक प्रकार का यूटिलिटी सॉफ्टवेयर ही है जब हमारे कंप्यूटर में  जगह भर जाती है,  तब इसकी मदद से बहुत ही आसानी से डिस्क को क्लीनअप किया जा सकता है। 

4 Disk Management  इसकी मदद से कंप्यूटर में मौजूद पूरी मेमोरी  का मैनेजमेंट किया जाता है जैसे कि ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए मेमोरी,  दूसरी ड्राइव्स के लिए मेमोरी,  आदि। 

5 Backup Utility  इसकी मदद से हम अपने कंप्यूटर में मौजूद सभी डाटा का बैकअप ले  सकते हैं।   तथा उसे सुरक्षित स्थान पर  रख सकते हैं जिससे कि हमारा डिवाइस खराब होने पर भी हमें हमारा डाटा जैसा का तैसा वापस प्राप्त हो सके। 

Types Of Software अन्य सभी सॉफ्टवेयर 

दोस्तों इन तीनों सॉफ्टवेयर के प्रकार के अलावा भी और भी प्रकार के सॉफ्टवेयर होते हैं वह किस तरह के सॉफ्टवेयर होते हैं आइए उनके बारे में भी थोड़ा जान लेते हैं 

Freeware 

यह सॉफ्टवेयर पूरी तरह से सभी के लिए फ्री सॉफ्टवेयर होते हैं इन सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कोई भी कर सकता है इन सॉफ्टवेयर के सोर्स कोड उपलब्ध नहीं किए जाते हैं। 

Open Source 

 इस तरह के सॉफ्टवेयर भी सभी के लिए फ्री सॉफ्टवेयर इन सॉफ्टवेयर के साथ इन सॉफ्टवेयर के निर्माता के द्वारा इन सॉफ्टवेयर का शॉर्टकोड भी फ्री में उपलब्ध करवा दिया जाता है ताकि उस सॉफ्टवेयर को बेहतर बनाने के लिए उस पर कोई भी अध्ययन कर सकें तथा उसमें कोई भी चेंज करके उसका  अपडेट वर्जन ला सके। 

 उदाहरण के तौर पर एंड्राइड वर्डप्रेस ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर है।  

Proprietary Software इस तरह के सॉफ्टवेयर का कोई मालिक होता है या फिर किसी का इन पर मालिकाना हक होता है इसके डेवलपर या फिर प्रकाशक इस पर मालिकाना हक रखते हैं यह उनकी संपत्ति होती है वह इसके वितरण इस पर संशोधन के खिलाफ सीमाएं करते है। 

Shareware

इस तरह के सॉफ्टवेयर पर भी सॉफ्टवेयर डेवलपर का मालिकाना हक होता है वह इसके परीक्षण के लिए उपयोग के लिए कम या फिर बिना किसी कीमत के लोगो इसे उपलब्ध करवा देते हैं तथा फिर बाद में भुगतान करने पर वह इसे अपग्रेड करके इसके यूजर को प्रदान कर देते हैं

 उदाहरण किसी भी सॉफ्टवेयर का  ट्रायल वर्जन

Malware, Spyware, and Adware

स्पाइवेयर मालवेयर तथा एडवेयर यह भी एक तरह के सॉफ्टवेयर ही है जो कि अलग-अलग  कानूनी तथा गैर कानूनी  रूप से कार्य करते हैं इनके बारे में नीचे विस्तार से जानते हैं

Malware 

 यह भी सॉफ्टवेयर होता है जो किसी कंप्यूटर उपयोगकर्ता के लिए हानिकारक होता है जैसे कि वायरस आदि

Spyware

स्पाइवेयर एक प्रकार का सॉफ्टवेयर ही होता है जो किसी कंप्यूटर  उपयोगकर्ता की जानकारी के बिना उसके बारे में जानकारी एकत्र करने में मदद करता है  इस तरह के सॉफ्टवेयर एक तरह से जासूसी का कार्य  करते है।  

Adware

एडवर्ड एकता का सॉफ्टवेयर है जिसमें बैनर विज्ञापन समय-समय पर प्रदर्शित होते रहते हैं अब वह विज्ञापन किसी भी प्रकार के हो सकते हैं

इन्हें भी पढ़ें :-

अगर आप सॉफ्टवेयर के प्रकार की पीडीएफ बुक डाउनलोड करना चाहते हो तो निचे क्लिक करके डाउनलोड कर सकते हो।

सॉफ्टवेयर के प्रकार से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर


Q. सॉफ्टवेयर के 3 प्रकार क्या हैं?

Ans. System Software, Application Software, Utility Software


Q. सॉफ्टवेयर के मुख्य प्रकार

Ans. System Software, Application Software, Utility Software


Q. सॉफ्टवेयर के मुख्य 2 प्रकार कौन से हैं

Ans. system software तथा application software


Q. सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते हैं?

Ans. 3 प्रकार के होते है। 


Q. प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर के प्रकार

Ans. प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर एक प्रकार का सॉफ्टवेयर है जिसका उपयोग एंड-यूजर्स द्वारा नहीं किया जाता है।

Conclusion

 इस लेख के माध्यम से हमने सॉफ्टवेयर क्या होता है तथा सॉफ्टवेयर के मुख्य तीन प्रकार सिस्टम सॉफ्टवेयर, एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर,  यूटिलिटी सॉफ्टवेयर  तथा अन्य दूसरे प्रकार के सॉफ्टवेयर के बारे में विस्तार से सभी प्रकार की जानकारी को  उनके उदाहरण  तथा उन से होने वाले फायदे के साथ जाना है।  आशा है दोस्तों इस लेख को पढ़ने के बाद आपके मन में आ रहे  इससे जुड़े सभी प्रकार के प्रश्नों का उत्तर मिल गया होगा 

अगर दोस्तों आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले अगर आपका इससे संबंधित कोई सवाल हो तो आप नीचे कमेंट कर सकते हैं हमारे द्वारा आपकी इस संबंध में पूरी सहायता की जाएगी

Leave a Reply

Your email address will not be published.